Thursday, 7 June 2018

लीगल नोटिस क्या है और लीगल नोटिस कैसे भेजे (What is Legal Notice and How to send legal notice?)

legal notice
लीगल नोटिस (Legal Notice) के विषय में हम सभी जानते है | जब भी हम किसी ऐडवोकेट या फिर किसी वकील के पास जाते है तो ऐडवोकेट हमे बताता है कि केस या फिर मामला दर्ज करने से पहले एक लीगल नोटिस (Legal Notice) भेजा जाये | कुछ ग्राहक कहते है कि ये पैसे बनाने के लिए ऐडवोकेट लीगल नोटिस को डालने के लिए कहते है | उपभोक्ताओं को लगता है कि ऐडवोकेट या वकील केस कि अलग फीस लेगा और लीगल नोटिस के लिए अलग चार्ज करेंगे | कुछ लोग समझ जाते है और सही समझे है और लीगल नोटिस के लिए पैसे ऐडवोकेट को दे देते है | बहुत से लोग लीगल नोटिस के लिए मन कर देते है क्योकि वो लीगल नोटिस कि महत्व को नहीं जानते है | 

लीगल नोटिस होता क्या है ? (What is legal notice)

किसी भी प्रकार के क्लेम के लिए सूचना देना लीगल नोटिस (Legal Notice) में आता है | लीगल नोटिस (Legal Notice) में ये बनता होता अपने विपक्षी पार्टी को कि आप उनसे क्या चाहते है अगर विपक्षी पार्टी आपकी बात को अनसुना करता है या नहीं मानता है तो आप क्या एक्शन लेंगे | 


लीगल नोटिस भेजने के दो फायदे होते है एक तो उपभोक्ता को यानि कि आपको और दूसरा फायदा उपभोक्ता अदालत (Consumer Court) को | 

उपभोक्ता को क्या फ़ायद होता है | (Benefits to Send Legal Notice)

उपभोक्ता को केस लगने के लिए समय निकलना पड़ता है क्योकि उपभोक्ता फोरम (Consumer Forum) में छोटा सा भी छोटा केस कम से कम 6 महीने चलता है | कभी कभी कई ऐडवोकेट ने 10000 रूपये से 15000 रुपये के लिए सालो तक इंतेज़ार किया है जब उनको पूर्ण रूप से निवरण मिला| कभी कभी अधिवक्ता को कम पैसे के केस के लिए भी अडल्ट के चक्र लगाने पड़ते है और पेशी देनी पड़ती है | जिसमे कभी कभी उपभोक्ता (consumer) को काफी लागत भी लगनी पड़ सकती है | समय और अधिक लागत बचने के लिए विपक्षी पार्टी को लीगल नोटिस (Legal Notice) दी जाती है | जिसमे उपभोक्ता कभी कभी मात्रिपूर्वक अपना समस्या के समाधान उपभोक्ता अदालत के बाहर ही कर लेता है | 

लागल नोटिस देने के बाद उपभोक्ता 15 दिन बाद उपभोक्ता कोर्ट (consumer court) में अपनी शिकायत (complaint) दर्ज कर सकता है | ये 15 दिन इसलिए दिए जाते है ताकि विपक्षी पार्टी को पर्याप्त समय मिल जाये उपभोक्ता शिकयत के विषय में सोचने का|

अगर आप लीगल नोटिस (Legal Notice) किसी सरकारी डेपार्टमेंट से सम्बंधित पार्टी को दे रहे ह तो आप को कम से कम  60 दिन का इंतेज़ार करना पड़ता| यह इस लिए क्योकि सरकरी कामो में बहुत काम होता जिसके चलते ये समय दिया जाता है |

लीगल नोटिस(Legal Notice) के लिए किसी भी प्रकार लीगल सलाहकार की जरुरत नहीं है आप खुद ही रजिस्टर्ड पोस्ट के जरिये लीगल नोटिस (Legal Notice) सेंड कर सकते है |

अगर आपको लीगल नोटिस (Legal Notice) को कंपनी तक भेजने में कोई दिक्कत हो रही है तो आप Voxya ऑनलाइन कंस्यूमर फोरम (complaint forum) के माध्यम से भी लीगल नोटिस भेज सकते है और उपभोक्ता शिकयत को उपभोक्ता अदलात (Conumer Court) में दर्ज कर सकते है |

No comments:

Post a Comment