Friday, 19 April 2019

Ahmedabad Consumer Court Case: Shopping site asked to pay refund, Flipkart Consumer Complaint Resolved


अहमदाबाद (AHMEDABAD): Consumer Court ने online shopping website Flipkart को ग्राहक के पैसे लौटाने और 5000 रुपये का मुआवजा देने का आदेश दिया, जिसने ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट (online shopping website) से कुछ सामग्री खरीदी थी और बाद में वापस कर दिया था लेकिन उसको पैसे वापस नहीं किये गए थे | 

थैलतेज (Thaltej) के रहने वाले विजयसिंह बाफना ने 2017 में Flipkart online shopping website पर 2 trousers और एक बैग का ऑर्डर देकर खरीदा था | यह तीनो चीज उनके घर पर पहुंच गयी थी और Cash on delivery माध्यम से इसका भुगतान भी कर दिया गया था | लेकिन उन्होंने जो सामान खरीदा था वह उन्हें उचित या फिर सही नहीं लगा और उन्होंने ने सामान को वापस कर दिया | उन्हें बताया गया कि 3 दिनों के भीतर उनके 3,473 रुपये उनके बैंक खाते में वापस कर दिए जायेंगे | लेकिन बार बार याद दिलाने पर भी उनके पैसे उन्हें वापस नहीं मिले | 

बाफना ने Consumer Dispute Redressal Forum Ahmedabad district  (Rural) से संपर्क करते हुए कंपनी के खिलाफ consumer complaint की |, जहां पर Flipkart Pvt Ltd ने दावा किया कि वह सिर्फ एक ऑनलाइन प्लेटफार्म है और जिसने प्रोडक्ट दिया था वह तीसरी पार्टी है, इसलिए राशि वापस करने के लिए कंपनी का दायित्व नहीं था | कोर्ट ने कहा कि ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट (online shopping website) द्वारा दिए गए बचाव तर्क को स्वीकार नहीं किया जा सकता | इसलिए Court ने आदेश दिया कि वह ग्राहक के पैसे वापस करने के साथ साथ 5,000 रुपये का मुआवजा भी ग्राहक को अदा करे | 


If you are looking for a solution of consumer complaint 
with an optimal solution then File a Complaint Now!

Thursday, 18 April 2019

बीमा कंपनी को 1 लाख का मुआवजा देना देने का आदेश (Insurance Consumer Complaints - Consumer Forum Ask To Insurance Firm to Pay Rs 1L Compensation - Visakhapatnam Consumer Case)


विशाखापट्टनम (Visakhapatnam): विशाखापत्तनम जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष फोरम-II (Visakhapatnam District Consumer Dispute Redressal Forum-II) ने एक शिकायतकर्ता को Insurance Claim की पूरी राशि का भुगतान करने में विफल रहने के बाद एक Insurance Company को सेवा में कमी का दोषी ठहराया है | 

Consumer Forum ने Insurance Company को निर्देश दिया कि वह Maxworth Plywoods Pvt Ltd  1,00,000 रुपये का मुआवजा दे,  प्रतिनिधित्व करने वाले वरिष्ठ कार्यकारी और प्राधिकृत हस्ताक्षरकर्ता के मोहम्मद रहमउद्दीन (शिकायतकर्ता) को दावा राशि 8.01 लाख रुपये, 9% वार्षिक ब्याज के साथ दे और कानूनी लगत के लिए 25,000 रुपये का भुगतान करे |

Maxworth Plywoods के मोहम्मद रहमतउद्दीन ने United India Insurance Company Limited के खिलाफ शिकायत और आरोप लगाते हुए Forum से संपर्क किया और कहा कि उन्होंने आग और विशेष खतरों पॉलिसी एक के साल के लिए 84,663 रुपये देकर 5 करोड़ बीमाकृत राशि के लिए था | 12 अक्टूबर 2014 को चक्रवात हुदहुद (cyclone Hudhud) के कारण काफी संपत्ति क्षतिग्रस्त हो गई थी | Insurance Firm को सूचित करने पर एमडी रहमतउद्दीन को कुल 50 लाख रुपये मिले | इसके बाद उन्होंने Right To Information Act के तहत एक अभ्यावेदन दिया और सर्वेक्षण रिपोर्ट की प्रति प्राप्त की | 


रिपोर्ट में पता चला है कि सर्वेक्षक ने क्लेम की राशि 61.19 लाख रुपये आंकी थी और पॉलिसी की ज्यादतियों को काटने के बाद सर्वेक्षक ने शुद्ध देयता का आकलन कर 58,13,433 रुपये कर दिया | Insurance Firm ने 8,01,433  रुपये का बैलेंस रोक रखा था | हालांकि, Consumer Forum ने बीमा कंपनी के दावों में दोष पाया और उन्हें 1 लाख रुपये के मुआवजे के साथ शेष राशि का भुगतान करने का निर्देश दिया |

Content source: TOI


Are you looking solution for consumer complaint then 

At Voxya, An Online Consumer Complaint Website Trusted By More Than 15,000 Consumers Across India.


Wednesday, 17 April 2019

PhonePe, Google Pay and PayTm : Which is better for you in hindi?(PhonePe, Google Pay और PayTm में से कौन सा सबसे बेहतर है आपके लिए?)

consumer complaint forum

PhonePe, Google Pay और PayTm यह तीनो ही UPI को सपोर्ट करते है | यानि आप इन तीनो में अपने Bank Account को लिंक करके बिना किसी charges के कही भी पैसे ट्रांसफर कर सकते है |

इन तीनो में से PhonePe और PayTm में आपको वॉलेट (Wallet) भी मिलता है | जबकि Google Pay में आपको Wallet नहीं मिलता है |

Google Pay: Google Pay Google का अपना एप्लीकेशन है जो पहले Tez नाम से लांच किया गया था और उसके बाद में इसका नाम बदल दिया गया | Google Pay में आपको High Security मिलती है | इसमें fraud होने के सम्भावना न के बराबर होते है | Google Pay में आपको टिकट बुक करने पर, बिजली का बिल बुक करने पर, या राशि ट्रांसफर करने पर काफी ऑफर मिलता है | साथ ही आपको इसमें आपको एक कैश मोड मिलता है जिससे आप किसी भी मर्चेंट को payment कर सकते है | Google Pay में आप एक साथ कई बैंक अकाउंट को लिंक कर सकते है जिसकी वजह से आपके लिए कई bank account संभालना काफी सरल हो जाता है | Google Pay में दो खामिया है, इसमें किसी भी प्रकार का wallet नहीं मिलता है | अगर आप कही से पैसे ट्रांसफर करते है तो वह सीधे आपके बैंक से कट जायेंगे | इसका User Interface थोड़ा कठिन है कुछ लोगो को इसे समझने में समय लग सकता है | 
consumer complaint forum



PhonePe: PhonePe में आपको काफी सुविधाएं मिलती है | यह UPI को भी सपोर्ट करता है | इसमें आपको wallet भी मिलता है | इसमें आप मोबाइल फ़ोन रिचार्ज करने से लेकर गोल्ड भी खरीद सकते है | इससे आप अपने क्रेडिट कार्ड का बिल का भी भुगतान कर सकते है |  इसमें भी आपको कई तरह के काफी ऑफर दिए जाते है | सुरक्षा के मामले में भी PhonePe काफी अच्छा है | इसमें भी Fraud होने की सम्भावना काफी कम होती है | इसमें आपको Ticket Support और Call Support दोनों मिलते है | यानि आप कोई ट्रांससेशन कर रहे है और वह फ़ैल हो जाता है तो आप इसके माध्यम से संपर्क कर सकते है | 

consumer complaint forum


PayTm: Paytm में आपको UPI Support, Wallet, और Shopping का विकल्प भी मिलता है | इसमें आप अपने bank account को लिंक कर सकते है और उससे कही भी बिना किसी चार्ज के transaction कर सकते है | Wallet में भी आप राशि जोड़ सकते है | PayTM की security बाकि दोनों से कमजोर है, कई बार आपने इसके डाटा लेक होने की खबरे सुनी होंगी | 

consumer complaint forum

PhonePe complaint resolved at 
Voxya consumer complaint forum website. It is trusted by more than 15,000 consumers across India.


If you are looking for a solution of 
consumer complaint with an optimal solution, then





Tuesday, 16 April 2019

इंजीनियर ने रेरा में जीती अंसल के खिलाफ लड़ाई, खुद की पैरवी (Engineer's fight against Ansal won in Rera, Real Estate Complaint Resolved in RERA)

बिल्डर ने मानी हार, 22 महीने में विला का निर्माण क्र कब्ज़ा देंगी कंपनी

consumer complaint

लखनऊ (Lucknow) : अंसल एपीआई (Ansal API) जैसी बिल्डर कंपनी (Builder Company) के खिलाफ मैकेनिकल इंजीनियर ऋतुराज मिश्रा ने रेरा (RERA) में खुद अपना केस लड़ा | बिल्डर (Builder) की लीगल टीम (legal team) के सामने अपने तर्क रखे | रेरा (RERA) ने जब शिकायतकर्ता के तर्क सही पाए तो बिल्डर को ही आड़े हाथ लिया | अब बिल्डर कंपनी (Builder Company) देरी के लिए हर्जाने के साथ अगले 22 महीने में शिकायतकर्ता (complainant) का गोल्फ सिटी में विला बनाकर देने के लिए तैयार हो गई है |

Know more about RERA (Real Estate Regulation Act

वकील की फीस कहा से देता इसलिए पढ़ा कानून 

विवेकखंड निवासी ऋतुराज मिश्रा का कहना है कि पहले इस केस के लिए वकील की मदद लेने के लिए कहा गया | इसके उलट मैने खुद पूरे, रेरा एक्ट (RERA Act) की स्टडी कर अपने तथ्यों को चेयरमैन राजीव कुमार के सामने रखने का फैसला लिया | इस एक वजह यह थी कि बिल्डर (builder) को पूरा देने के बाद आर्थिक तंगी के चलते वकील की फीस का भी खर्च उठाने की स्थिति मेरी नहीं थी | पत्नी के कहने पर कानून की पढ़ाई कर खुद ही केस लड़ने की तैयारी की | कुछ दिन तक समस्या आई, पर बर्बाद में रेरा (RERA) की टीम और चेयरमैन की मदद से दिक्कते दूर हुई |     

रेरा (RERA) की नई टीम के अधिकारियो और प्रमुख रूप से चेयरमैन का जब सहयोग मिला | इसके बाद दस्तावेजों को तर्क के साथ रखना भी आसान हो गया | ऋतुराज मिश्रा का कहना है कि रेरा कानून (RERA Law) बहुत कठिन नहीं है | इसे अगर ठीक से पढ़ लिया जाए तो आवंटी खुद अपने केस में पैरवी कर सकते है |

सात साल से इंतज़ार रिफंड लेने से इंकार 

शिकायतकर्ता से रेरा को बताया कि पाइनवुड विला प्रोजेक्ट में एक यूनिट उन्होंने बुक कराई | 34 लाख रुपये के विला के लिए बिल्डर को अब तक 21.50 लाख रुपये मे दे चूका हूँ | अब सात साल के बाद भी बिल्डर विला को नहीं दे सका | रेरा मे शिकायत (Complaint in RERA) कर इस मामले में विला पर कब्ज़ा और विलम्ब के हर्जाना की मांग की गई | बिल्डर (builder) पैसा वापस करने की बोलता रहा | मेरा कहना था कि मे कोई कमाई करने के लिए विला नहीं खरीदा था | ऐसे मे रिफंड की बात करना बेकार है |  


बिल्डर का तर्क, नोटबंदी ने फंसाया प्रोजेक्ट 

रेरा (RERA) मे बिल्डर (builder) ने तर्क दिया कि नोटबंदी होने की वजह से प्रोजेक्ट को पूरा करने मे दिक्कते आयी | वही आवंटी को मय ब्याज के 24 किस्तों मे पैसा वापस करने का विकल्प भी दिया गया | बिल्डर (builder) ने पहले दिसंबर 2021 तक विला देने के लिए कहा | रेरा (RERA) की सस्ती के बाद अब बिल्डर ने दिसंबर 2020 मे विला का काम पूरा कर कब्ज़ा देने की लिए कहा है | रेरा (RERA) के चेयरमैन ने बिल्डर (builder) को 22 महीने मे विला देने के अलावा कब्ज़ा के समय तक जमा पर नियम अनुसार ब्याज के रूप मे हर्जाना देने का आदेश दिया | यह हर्जाना कब्ज़ा देने के समय बाकी देनदारी मै बिल्डर समायोजित करेगा |  

consumer complaint


File Real Estate Complaints Online At 



Voice of Consumer Against Real Estate Companies - Voxya Consumer Forum


Friday, 12 April 2019

Indian Penal Code Section 503 (भारतीय दंड सहिंता की धारा 503) (पत्नी या गर्ल फ्रेंड सुसाइड की धमकी दे तो जानिए क्या करे? )

भारतीय दंड सहिंता की धारा 503 यह कहती है कि अगर कोई व्यक्ति दूसरे व्यक्ति को, या उसकी प्रतिष्ठा को, संपत्ति को, चोट पहुंचने कि धमकी देता है | यह किसी ऐसी व्यक्ति की प्रतिष्ठा को खराब करने की धमकी देता है | जिसपे उस पहले व्यक्ति का दिलचस्पी है यानि उसके माँ बाप, उसके भाई, या बहन को या फिर कोई ऐसा काम करने की धमी देता है, जिसको करने के लिए वह कानूनी तौर बाध्य नहीं है, तो यह आपराधिक धमकी (Criminal Intimidation) का केस बनता है |     

Criminal Intimidation (आपराधिक धमकी) : अगर कोई व्यक्ति आपराधिक धमकी (Criminal Intimidation) का क्राइम करता है | तो उसको क्या सजा होंगी यह भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 (Indian Penal Code Section 506)  में बताया गया है | 

अगर कोई व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को कोई ऐसी धमकी देता है जो  भारतीय दंड सहिंता की धारा 503 (Indian Penal Code Section 503)में बताई गयी है | तो उसे दो साल तक की सजा या जुर्माना या फिर सजा और जुर्माना दोनों हो सकती है | लेकिन अगर धमकी गंभीर चोट (grievous hurt) पहुंचाने की या फिर जान से मरने की दी गयी है तो उसमे 10 साल तक की सजा या जुर्माना या दोनों ही होने का प्रावधान है | 

अगर किसी की पति या फिर गर्ल फ्रेंड या फिर कोई व्यक्ति आत्महत्या (suicide) करने की धमकी देता है तो सबसे पहले आपको उनसे बात करनी चाहिए और कोई हल निकलना चाहिए | लेकिन आप उससे बात नहीं करना चाहते है या फिर आपने बात की है पर कोई हल नहीं निकल रहा है | तब आप कानून का सहारा ले सकते है | 


अगर पत्नी या गर्ल फ्रेंड या कोई भी व्यक्ति आपको आत्महत्या (suicide) करने की धमकी देता है | कोई भी ऐसा काम कराने के लिए जिसके लिए आप कानूनी रूप से बाध्य नहीं है | जैसे कि आपकी बीबी आपसे कहे कि मुझे गहने दिलवाइये या फिर मुझे अलग घर दिलवाइये वरना में आत्महत्या (suicide) कर लूंगी या फिर आपकी प्रेमिका आपसे कहती है कि मुझसे शादी कर लो नहीं में आत्महत्या (suicide) कर लूंगी तो यह सब Criminal Intimidation (आपराधिक धमकी) में आता है | इसके लिए आप Police Station में शिकायत कर सकते है | अगर कोई आपको आत्महत्या (suicide) करने कि धमकी दे | तो आपको एक आवेदन देना चाहिए डिटेल में क्या मामला था और क्या इसमें हो रहा है | इसके बाद आपको पुलिस स्टेशन में जाकर दे देना चाहिए कि यह व्यक्ति  आत्महत्या (suicide) करने की धमकी दे रहा है | अगर यह आत्महत्या (suicide) कर लेता है तो इससे मेरा कोई भी लेना देना नहीं होगा | 

इसी तरह से शादी के बाद कोई पत्नी 498A केस करने की धमकी देती है यह फिर कहती है कि पुरे परिवार को जेल में डलवा दूंगी तो यह भी Criminal Intimidation (आपराधिक धमकी) में आता है | इसके लिए भी आप पुलिस स्टेशन में केस कर सकते है | 


अगर कोई आत्महत्या (suicide) कर लेता है और सुसाइड नोट छोड़ता है या फिर घर वाले यह इल्जाम लगते है कि आपने ही सुसाइड के लिए उकसाया था या फिर आपने ही उसकी मौत का कारण है तो पुलिस आपको गिरफ्तार करेगी Indian Penal Code Section 503 के तहत लेकिन किसी के कह देने या फिर सुसाइड नोट से आप क्रिमिनल नहीं हो जाते है | बल्कि पुलिस पहले जाँच पड़ताल करेगी और उसमे देखेगी कि आपको उस व्यक्ति से क्या सम्बन्ध था | आपके उनके साथ कैसे रिश्ते थे और आप उनके सुसाइड के लिए जिम्मेदार है या नहीं | 

अगर जिम्मेदार मने जाते है तो आपके ऊपर 306 का केस चलेगा और नहीं माने जाते है तो उससे बरी कर दिया जायेगा | 

यहाँ पर आपको एक चीज और जानने कि जरूरत है Indian Penal Code Section 503 और Section 506 सिर्फ सुसाइड की धमकी के लिए नहीं है | बल्कि कोई भी व्यक्ति आपकी प्रतिष्ठा को ख़राब करने की धामी देता है, या फिर आपकी प्रॉपर्टी को नुकसान पूछने की धमकी देता है या फिर आपको जान से मारने की धामी देता है  या चोट पहुंचाने की धमकी देता है तो आप उसके खिलाफ केस दर्ज कर सकते है |

अगर आपकी किसी भी प्रकार की उपभोक्ता शिकायत (consumer complaint) का समाधान चाहते है तो Voxya consumer complaint website पर शिकायत दर्ज करे |


IF YOU ARE LOOKING FOR SOLUTION 
OF CONSUMER COMPLAINT THEN 

Thursday, 11 April 2019

What is Code of Conduct in Elections - आचार संहिता क्या होती है? Lok Sabha Election 2019

लोक सभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के तारीखों का ऐलान हो चुका है और इसी के साथ आचार सहिंता (Code of Conduct) भी लागू  हो चुकी है | 

इस बार आम चुनाव की गिनती 23 मई 2019 को होनी है और आचार सहिंता (Code of Conduct) 10 मार्च से शुरू होकर 23 मार्च 2019 तक जारी रहेगी | 

चुनाव आचार सहिंता (Code of Conduct) का मतलब है चुनाव आयोग के वे निर्देश जिनका पालन चुनाव खत्म होने तक हर पार्टी और  उसके उम्मीदवार को करना होता है | अगर कोई उम्मीदवार इन नियमो का पालन नहीं करता है | तो चुनाव आयोग उनके खिलाफ कार्यवाई कर सकता है | उसे चुनाव लड़ने से रोका जा सकता है | उमीदवार के खिलाफ F.I.R. दर्ज हो सकती है और दोषी पाए जाने पर उसको जेल भी जाना पड़ सकता है | 

राज्यों में चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही उस राज्य में चुनाव आचार सहिंता भी लागू हो जाती है | चुनाव आचार संहिता (Election Code of Conduct) के लागू  होते ही राज्य सरकार और एडमिनिस्ट्रेशन यानि प्रशासन पर कई अंकुश लग जाते है | सरकारी कर्मचारी चुनाव की प्रक्रिया होने तक निर्वाचन आयोग के कर्मचारी बन जाते है | वे election commission के तहत रह कर उसके दिशा निर्देश पर पर काम करते है | 

आचार सहिंता (Code of Conduct) लागू होने के बाद कौन से काम नहीं कर सकते है | 

1. आचार संहिता (Code of Conduct) लागू होते ही प्रदेश का मंत्री या मुख्यमंत्री जनता के लिए जनता के लिए कोई नई घोषणा नहीं कर सकते है | इस दौरान राज्य में न तो शिलान्यास या भूमिपूजन नहीं किया जाता |

2. सरकारी खर्च से ऐसा कोई भी पार्टी विशेष को लाभ नहीं पंहुचा सकते |

3. चुनाव प्रचार के दौरान कोई भी राजनैतिक दल और उनके किसी भी नेता को लाउडीस्पीकर का इस्तेमाल करने से पहले उनके स्थानीय अधिकारी से अनुमति लेना जरुरी है | 

4. किसी भी राजनैतिक पार्टी उम्मीदवार, राजनीतिज्ञ, या फिर समर्थक को कोई भी रैली करनी हो तो उसकी अनुमति पुलिस से लेनी होंगी | ताकि सुरक्षा से पुख्ता इंतजाम किये जा सके |

5.  किसी भी रैली में धर्म के नाम पर वोट नहीं मांगे जा सकते | 

6. आचार संहिता (Code of Conduct) का सबसे मुख्य सन्देश है कि उम्मीदवार किसी भी कीमत पर मतदाता को किसी भी प्रकार का लालच नहीं दे सकते है | अक्सर उम्मीदवार के द्वारा शराब और पैसे के साथ साथ कई तरह के उपहार देने की बात सामने आती है | ऐसा करना पूरी तरह से वर्जित है | 

7. आचार संहिता (Code of Conduct) के लागू होने के बाद से सरकारी गाड़ी, सरकारी विमान, या सरकारी बंगले का इस्तेमाल चुनाव प्रचार के लिए नहीं किया जा सकता है | 

8. चुनाव के दिन उम्मीदवार आपने राजनैतिक दल के चुनाव चिन्ह को पोलिंग बूथ के आस पास नहीं दिखा सकते है | चुनाव समित के द्वारा दिए गए वैध पास के बिना कोई भी पोलिंग बूथ में नहीं घुस सकता |


आचार सहिंता Election Commission Of India के द्वारा बनाये गए कुछ नियम होते है, जिन नियमो को चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही लागू कर दिया जाया है | आचार संहिता (Code of Conduct) को इस लिए लागू कर दिया जाता है ताकि सभी Political Parties candidates और समर्थक एक दायरे में रहे और चुनाव को शांति के साथ पूरा कराया जा सके | आचार संहिता लागू होने के बाद सभी राजनैतिक दल, उमीदवारो और समर्थको को उसे मानना ही होता है | अगर कोई भी आचार संहिता में दिए गए निर्देशों का पालन नहीं करता है तब उसके खिलाफ Election Commission Of India को कार्रवाई करने का अधिकार है | जिसमे उसके खिलाफ F.I.R. हो सकती है और उसको जेल भी जाना पड़ सकता है | 

अगर आपको कही भी आपको आचार संहिता (Code of Conduct) का उल्लंघन देखने को मिलता है तो आप इसकी शिकायत सीधे आप Election Commission Of India को कर सकते है |     

     
अगर आपकी किसी भी प्रकार की उपभोक्ता शिकायत (consumer complaint) है तो इसकी शिकायत Voxya online consumer complaint website पर कर सकते है और आप अपनी शिकायत का जल्द से जल्द समाधान भी पा सकते है |  

Tuesday, 9 April 2019

Supreme Court Guidelines on Love Marriage 2018 (लव मैरिज करने वाले युगल के लिए Supreme Court की दी गयी दिशानिर्देश)

Supreme Court की तरफ से लव मैरिज करने वाले युगल को एक बड़ी रहत दी गयी है | कोर्ट ने कहा कि अगर दो बालिग अपने मर्जी से शादी करते है तो कोई भी इसमें किसी भी तरह का हस्तक्षेप नहीं कर सकता है | Court ने यह भी कहा कि जब केंद्र सरकार इस मामले में कोई कानून नहीं ले आती तब तक यही दिशानिर्देश मान्य होंगे | 

12 दिशानिर्देश कौन कौन सी है जो कि लव मैरिज करने वाले युगल के पक्ष में की गयी है |

Supreme Court ने  अपना एक ऐतिहासिक फैसला देते हुए अंतरजाति (intercaste) Marriage करने वाले युगल के मामले में खापपंचायत जैसे गैर कानूनी समूहों के दखल अंदाजी को पूरी तरह से गैर कानूनी करार देते हुए उस पर पाबन्दी लगा दी है | Court ने यह भी कहा कि अगर दो बालिग अपनी मर्जी से शादी कर रहे है तो इसमें कोई दखल देने का कोई हुक नहीं बनता है | Supreme Court के आदेश के मुताबिक जबतक केंद्र सरकार कोई कानून नहीं लेकर आएगी तब तक यह ही आदेश प्रभावी रहेगा | 

इसका उल्लंघन करने वाले को कठोर सजा दी जाएगी और court ने 2010 में NGO शक्तिवाहनी द्वारा दायर कि गयी जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए ये फैसला सुनाया था |  इसी केस कि सुनवाई करते हुए कुछ दिशानिर्देश भी जारी की | 

यह दिशानिर्देश कुछ इस प्रकार है |
  • राज्य सरकार ऐसे गांव/इलाको की पहचान करे जहा पिछले 5 साल में प्रेमी जोड़ो की हत्या या उनके साथ मारपीट की घटनाये हुए हो | वहां के प्रभारी पुलिस अधिकारी खास चौकसी बरते | 
  • अगर खाप पंचायत या जातीय समूह की प्रस्तावित बैठक की जानकारी पुलिस अधिकारी को मिले तो वह तुरंत वरिष्ठ अधिकारी को सूचना दे | DSP या कोई आला अधिकारी बैठक करने जा रहे समूह को बताये कि प्रेमी जोड़ो के खिलाफ किसी भी प्रकार की बैठक गैरकानूनी है |  
  • बैठक में DSP खुद मौजूद रहे और सुनिश्चित करे कि प्रेमी जोड़ो या उनके परिवार को नुकसान पहुंचने जैसा कोई फैसला न लिया जाये | बैठक की वीडियो रिकॉर्डिंग भी करवाई जाये | 
  • अगर बैठक से पहले यह अंदेशा हो जाये कि इसमें प्रेम विवाह करने वाले किसी जोड़े को नुक्सान पहुंचाने का फैसला होगा और खाप वाले बैठक रोकने को तैयार न हो तो जिला प्रशासन धारा 144 लगाए | समूह से जुड़े लोगो को एहतियातन हिरासत में ले | 
  • केंद्रीय गृह मंत्रालय और राज्य सरकारे आपस में चर्चा करे | पुलिस और दूसरी एजेंसियों को ऐसे अपराधो की रोकथाम ओर संवेदनशील बनाने में उपाय करे | 
  • अगर ऐसी बैठक हो जाने के बाद पुलिस को उसकी जानकारी मिले तो तुरंत F.I.R. दर्ज करे |  बैठक में लिए गए फैसलों के आधार पर धराये लगाई जाए | खतरे में आये जोड़े/ परिवार को सुरक्षा दे | 
  • प्रशासन ऐसे प्रेमी जोड़ो या प्रेम विवाह करने वाले जोड़ो को सुरक्षित जगह पर रखे, जिन्हे पंचायत और परिवार से खतरा हो | अगर पंचायत जातीय समूह में चलते प्रेमी जोड़े के परिवार वालो को खतरा हो तो उन्हें भी शरण दी जाए | राज्य सरकारे इस काम के लिए हर जिले में सेफ होम बनाने पर विचार करे | 
  • प्रशासन इस बात को भी देखे कि लड़का और लड़की वयस्क है या नहीं | अगर दोनों व्यस्क शादी करना चाहते है तो अपनी देख रेख और सुरक्षा के मध्य शादी करवाए | अगर वो जोड़ा सेफ होम में रहना चाहता हो तो मामूली किराये पर एक महीने में रहने दिया जाए | जरूरत पड़ने पर रहने की इजाजत बढ़ायी जाए, इसकी अधिकतम सीमा एक शाल तक हो सकती है | 
  • अगर कोई प्रेमी जोड़ा या प्रेम विवाह करने वाला जोड़ा प्रशासन के पास आये तो उनकी शिकायत की एसीपी रैंक के अधिकारी जाँच करे | शिकायत में कही गयी बातो की पुष्टि होने पर F.I.R. दर्ज हो और जोड़े के लिए खतरा बन रहे लोगो को हिरासत में लिया जाए | 
  • जानकारी मिलने पर भी प्रेमी जोड़े को सुरक्षा देने और दूसरी जरूरी करवाई करने में नाकाम रहने वाले अधिकारियो 
  • के खिलाफ विभागीय करवाई हो | 7 महीने में विभागीय कार्यवाही ख़त्म की जाए | 
  •  हर जिले में SSP और समाज कल्याण अधिकारी के नेतृत्व में विशेष सेल बनाया जाए | इस सेल में प्रेमी जोड़े अपनी शिकायत रख सकते है | ये विशेष सेल 24 घंटे चलने वाली हेल्पलाइन सुविधा भी दे | 
  • हॉनर किलिंग यानि झूठी शान के लिए प्रेमियों की हत्या और उन्हें या उनके परिवार को नुकसान पहुंचाने के मामलो की सुनवाई के लिए विशेष अदालते बनाई जाए और इन मामलो की सुनवाई फ़ास्ट ट्रैक में हो | 
If you are looking for solution of consumer complaint then 

Monday, 8 April 2019

आप अपने स्मार्टफोन से ऑनलाइन F.I.R. कैसे दर्ज करे? (How you can file F.I.R. online from your smartphone in Hindi?)

अगर कभी आपका कोई सामान चोरी हो जाता है या खो जाता है तो हमे उसकी online F.I.R. file करनी पड़ती है | जिसके लिए या तो हम Police Station जाकर ऑफलाइन F.I.R. दर्ज कर सकते है या फिर हम घर बैठ कर भी smartphone से online F.I.R. दर्ज कर सकते है | 

Step By Step जानते है की Online F.I.R. Smartphone से कैसे दर्ज करे | 

F.I.R का क्या होता है? (What is F.I.R.)

F.I.R का मतलब होता है First Information Report. यानि हमारे साथ जब भी कोई घटना घटती है जैसे कि कार का चोरी हो जाना, स्मार्टफोन का चोरी हो जाता है तो इन चीजों को हम थाने में जाकर पुलिस को बताते है तो इसी को F.I.R कहते है | 


F.I.R क्यों दर्ज करानी चाहिए? (Why should you file F.I. R?)

जब भी हमारा कोई सामान चोरी होता है या फिर खो जाता है और इसके बाद वह किसी तरह के क्राइम में उपयोग हो सकता है | तो अगर आपने उसे F.I.R. करवा दी है तो फिर उसका आप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है | लेकिन अगर आपने उसकी F.I.R. दर्ज नहीं करवाई होती है तो उसका आप पर काफी बड़ा प्रभाव पड़ता है | उदहारण के लिए आपकी कोई कार थी जो चोरी हो गयी है या खो गयी है और आपने उसकी F.I.R. दर्ज नहीं करवाई है | तो अगर वह कार किसी क्राइम में इस्तेमाल की जाती है तो आप पर भी उसका प्रभाव पड़ेगा | आपको भी थाने में बुलाया जायेगा और आपको कस्टडी में भी रखा जा सकता है और यह भी संभव है की पुलिस आपकी पिटाई भी कर सकती है |  लेकिन अगर आप उनको F.I.R. की कॉपी दिखा देते है तो उसका आप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा |
  
F.I.R. दर्ज करवाने के दो रास्ते होते है |
  • आप किसी भी पुलिस स्टेशन पर जा कर offline F.I.R. file करवा सकते है|
  • आप हर से भी online F.I.R. file करवा सकते है |


ऑनलाइन F.I.R. कैसे दर्ज करे? (How to file online F.I.R.?)

आपको सबसे पहले अपने मोबाइल पर Google chrome browser खोलना है | 
उसके बाद आपको सर्च करना होता है "Online F.I.R. + City Name" अगर आपने सर्च किया है "Online F.I.R. Delhi" तो आपको सबसे पहले आपको ये वेबसाइट दिखेगी "http://www.delhipolice.nic.in/register.html" और आप सीधे http://www.delhipolice.nic.in/ पर जाकर भी देख सकते है | 

Voxya Consumer Forum


आप जब इसपर जायेंगे तो आपको एक फॉर्म मिलेगा जिसे आपको भरना होगा | 

आप इस फॉर्म को भर के, जमा करेंगे तो तो आपको एक PDF File मिल जाएगी और वही फाइल आपके ईमेल पर भी जाएगी | 

इस pdf फाइल में एक L.A.R. नंबर होता है जिसकी मदद से आप अपनी F.I.R. का स्टेटस भी प्राप्त कर सकते है |  



अगर आप अपनी उपभोक्ता शिकायत ऑनलाइन दर्ज (consumer complaint online file) करना चाहते है तो आप Voxya online complaint website पर शिकायत करे |



File Complaint Now!

Friday, 5 April 2019

फोरम का आदेश, बिल्डर ब्याज सहित लौटाए रकम (Real Estate Consumer Complaint in Lucknow Uttar Pradesh)



लखनऊ (Lucknow) :  जिला उपभोक्ता फोरम (District Consumer Forum) ने निजी बिल्डर स्काईवे इंफ्रास्ट्रक्चर (Skyway Infrastructure) को आदेश दिया है कि आवंटी सुनील कुमार के खरीदे भूखंडो का रिफंड ब्याज सहित करे | आवंटी ने गोमती एस्टेट योजना (Gomti Estate Yojana) में भूखंडो सी - 18, सी - 28 2012 में खरीदे | शिकायतकर्ता (complainant) का कहना है कि कुछ समय बाद बिल्डर ने किस्ते लेना बंद कर दिया | वही उनके भूखंड किसी अन्य को आवंटित कर दिए गए | वही बिल्डर का कहना है कि खुद आवंटी कि मांग पर ऐसा किया गया | फोरम (Forum) के अध्यक्ष अरविन्द कुमार और सदस्य राजर्षि शुक्ला ने अब आदेश दिया है कि बिल्डर कुल जमा 2,10,000 रुपये मय नौ प्रतिशत ब्याज के साथ वापस करे | इसके अलावा विधिक व्यय के लिए 5000 रुपये अलग से अदा करे |

अगर आपकी भी Real Estate Company, Real Estate Builder, Property Dealer आदि के खिलाफ कोई भी उपभोक्ता शिकायत है तो आप अपनी शिकायत को Voxya online complaint website पर करके के समाधान पर सकते है |



Wednesday, 3 April 2019

How To Choose Best Lawyer in Hindi? (अपने लिए अच्छा वकील कैसे चुने ?)

consumer forum
आपको एक बात हमेशा याद रखनी है की जब भी आपको court से कोई काम पड़ता है तो उसके लिए आपको एक अच्छा Lawyer (वकील) ही चुनना चाहिए | अगर आपने किसी गलत Lawyer को चुन लिया तो आप यह जान लीजिये की आप नीचे lower court में हार गए तो आप हारते ही चले जायेंगे | इसलिए आपका पूरा ध्यान एक अच्छे वकील पर होना चाहिए | 

एक अच्छा वकील कैसे चुने? (How to choose a good lawyer?)

सबसे पहले आपको अपने परिवार, और अपने दोस्तों से पता करना चाहिए | अगर ये आपका पहला मामला है और आपको वकील (Lawyer) के विषय बिल्कुल भी ज्ञान नहीं है | तो आपको दोस्तों और परिवार वालो से पता करना चाहिए की क्या कभी उनका कोई मामला कोर्ट में गया है | अगर हुआ तो वो आपको सलाह दे सकते है | अगर कोई आपको बताता है की हाँ मेरा एक केस था तो आप अपने केस से उसके केस का अंतर जानना जरूरी है और यह भी जरूरी है कि वह किस तरह के केस देखता है क्योकि केस कई तरीके के होते है और हर वकील कि अपनी अलग अलग तरह के केस में महारत होती है जैसे Criminal Lawyer क्रिमिनल केस को देखता है, Revenue Lawyer जमीनी मामलो को देखता है, Civil Lawyer दूकान के मामले, घर के बटवारे के मामले, जबरदस्ती घर में कब्ज़ा करना आदि मामलो को देखता है, अगर अमला दुर्घटना का है Claimant Lawyer, अगर आपने कोई चीज खरीदी है उस में कोई विवाद हो या फिर उपभोक्ता  शिकायत (consumer complaint) हो तो उसके लिए Consumer Lawyer होते है |

कुछ मामलो में विशेषज्ञ वकील (Specialist Lawyer) की जरुरत होती है लेकिन सभी मामलो में नहीं | कुछ केस में विशेषज्ञ ही चुनना होता है जैसे की Criminal Cases, Revenue cases आदि में | Civil Lawyer Criminal Lawyer हो सकता है, Family Court के मामले में वह criminal lawyer आराम से कर सकता है | लेकिन ज्यादतर आपको प्राथिमिकता देनी चाहिए Criminal Lawyer को, वैसे को कई क्षेत्र है लेकिन ज्यादतर आपको इन्ही से सामना करना पद सकता है | 

पहले तो हमे अपने परिवार से पता किया उसे बाद हम जायेंगे court के पास जाकर लोगो का सुझाव लेंगे | वह पर कैंटीन होती है वह पर थोड़ी देर रुके और कुछ लोगो से बात करे और पता करे यहाँ पर Criminal Lawyer को अच्छे है | कुछ लोगो के नाम आपके कान में आएंगे | जिनमे से 2 से 3 नाम बताये जायेंगे जो सबसे अच्छे Criminal Lawyer होंगे | उन Lawyer से जाकर आपको मिलना है | आप उन तीनो लोगो से एक एक करके बात करे | बात करने के बाद आपको अनुमान हो जायेगा, कौन सा वकील आपके लिए ठीक है | 

लेकिन आपने Criminal Case के लिए किसी और वकील को चुना तो आपके जीतने के मोके कम हो जायेंगे | आप उन तीनो में से किसी एक को चुन सकते है |

अगर आप Consumer Case को Consumer Forum में जीतने लिए वकील की सहल चाहिए तो Voxya पर "Talk To Lawyer" पेज पर जाइये |

consumer lawyer


Tuesday, 2 April 2019

Pradhan Mantri Atal Pension Yojna Details in Hindi (प्रधानमन्त्री अटल पेंशन योजना की जानकारी)

भारत सरकार ने भारत के विभिन्न तबकों को  पेंशन का लाभ दिलाने के लिए प्रधानमंत्री अटल योजना  (Prime Minister Atal Yojana)का आगाज किया है | इस योजना की शुरुवात वर्ष 2015 के जून के महीने में की गयी थी | 

इस योजना के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य देशवसियों को पेंशन की सुविधा प्रदान करना है | इस योजना के अंतर्गत देशवासियो को एक नई तरह से लाभ प्राप्त हो सकेगा, जिसके लिए वह अपने भविष्य के लिए पैसे जमा करके पेंशन प्राप्त कर सकेंगे | 

प्रधानमंत्री अटल पेंशन योजना क्या है ? (What is Pradhan Mantri Atal Pension Yojna?)

यह योजना केंद्र सरकार के द्वारा चलायी गयी है

योजना का लाभ उठाने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए? (What should be the eligibility to avail the benefit of the scheme?
)

  • इस योजना का लाभ कोई भी भारतवासी उठा सकता है, हालांकि सरकार ने इसके लिए कुछ मापदंड भी रखे है, जिसे इस योजना का लाभ उठाने के लिए मानना आवश्यक है इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक की 18 वर्ष से अधिक होनी आवश्यक है | 
  • इस योजना के अंतर्गत सरकार ने अधिकतम आयु 40 वर्ष की रखी है, अतः 40 वर्ष से अधिक लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते है | 
  • इस योजना के लिए आवेदक का बैंक में अकाउंट होना अतिआवश्यक है, जो कि उसके आधार से संलग्न हो | आवेदक का अपना पंजीकृत बैंक अकाउंट होना भी अति आवश्यक है |  

कितनी पेंशन प्राप्त हो सकती है? (
How much pension can be received ?)

इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 1 हज़ार से से लेकर 5 हज़ार तक की पेंशन प्राप्त होंगी | यह पेंशन लाभार्थी को 60 वर्ष पुरे होने के बाद ही प्राप्त होगा | 



अटल पेंशन योजना के लाभ? (
Benefits of Atal Pension Yojana?)

  • इस योजना के अंतर्गत अपना नामांकन कराने वाले लोगो को कई तरह के लाभ प्राप्त हो सकेंगे | इस योजना का लाभ गरीबो और उन लोगो को प्राप्त हो सकेगा, जो किसी निजी फर्म में कार्य करते है | इस योजना के अंतर्गत अपने नियोजित भविष्य के लिए लोग पैसे जमा कर सकेंगे | 
  • इस स्कीम के अंतर्गत 60 वर्ष के बाद लोगो को उनका जमा किया हुआ पैसा पेंशन के रूप में मिलेगा | 
  • इस योजना में लोग महज 18 वर्ष से ही पैसे जमा कर सकेंगे | अतः इसकी आयु सीमा बहुत जल्द शुरू हो जाती है | जिसके अंतर्गत कोई भी व्यक्ति अनपे भविष्य के लिए पैसे जमा कर सकता है | 

योजना के अंतर्गत सरकार और आवेदक का योगदान (Government and applicant's contribution under the scheme
)

  • इस योजना का सारा दारोमदार सरकार के ऊपर है किन्तु इसके बाद भी आवेदकों की इस योजना में एक बहुत बड़ी भूमिका है | इस योजना में भारत सरकार वित्त मंत्रालय का योगदान है | पूरी योजना सरकार के PFRDA की देख रेख में चलायी जाएगी | इस योजना के अंतर्गत आवेदक को प्रति वर्ष 2000 रुपये से अधिक अपने योजना के कहते में जमा करनी होंगी | 
  • जिस पर सरकार की तरफ से शुरू के पांच वर्षो के लिए रुपये 1000 रुपये जमा प्राप्त हो सकेगी | यदि आप सालाना के तोर पर इस योजना के अंतर्गत रुपये 2000 से कम जमा करते है तो आपको सरकार की तरफ से आधा पैसा ही आपको लाभ के रूप में प्राप्त होगा | 
  • इस योजना में अंतर्गत आप अपने अकाउंट में वित्तीय वर्ष के भीतर आप पैसे जमा कर सकते है | 
  • इस योजना के अंतर्गत  आवेदक को यह चोट नहीं होंगी की वह जब चाहे तो योजना के खाते से पैसे निकाल ले | 
  • अगर खातेधारक की किसी वजह से मृत्यु हो जाती है तो उसके जीवनसाथी को इस योजना का लाभ मिलेगा जिसके लिए, बैंक मैनेजर से बात करनी होंगी | अगर पति पत्नी दोनों की किसी वजह से मृत्यु हो जाती है तो उसका पैसा नोमनी को प्राप्त होगा | 
  • अगर कोई जमाकर्ता देय डेट के अंदर पैसे जमा नहीं करता है तो उसको पेनलिटी देनी होंगी | 

अगर आप किसी भी प्रकार की उपभोक्ता शिकायत (consumer complaint) है और उसका निवारण जल्द से जल्द पाना चाहते है तो अपनी उपभोक्ता शिकायत को Voxya online consumer complaint forum पर दर्ज करना न भूले |


Are you looking for a solution of consumer complaints then 

Thursday, 28 March 2019

Customer Care Number Fraud - Consumer Complaint Online (किसी भी कंपनी का कस्टमर केयर नंबर ढूंढ़ रहे है तो सतर्क हो जाये )

consumer compalint forum
यह सुनने में शायद आपको थोड़ा अजीब लग रहा होगा कि Customer Care Number Fraud लेकिन इस तरह के फ्रॉड आज कल ज्यादा हो रहे है | जिसमे कंस्यूमर के जेब से पैसे कब चले जाते है पता ही ही चलता और जब पता चलता है तो काफी देर हो चुकी होती है |

जी हाँ,  Customer Care Number Fraud  इस फ्रॉड में लोग क्या क्र रहे कि कि वो कंपनी के कस्टमर केयर नंबर ऑनलाइन पोर्टल पे डाल क्र ग्राहक और कंस्यूमर को गुमराह करते है |

Voxya की एक रिपोर्ट के अनुसार एक उपभोक्ता ने उनको शिकायत (complaint) कि उन्होंने किसी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट से एक 2500 रुपये साड़ी खरीदी जिसका आर्डर के लिए उन्होंने online payment किया था | लेकिन ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट उस साड़ी को उपभोक्ता तक पहुंचाने में शायद देर कर या समय में नहीं पहुंची थी जिसकी वजह से उपभोक्ता ने customer care number online search शुरू किया और उन्हें किसी वेबसाइट पर उस ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट का कस्टमर नंबर मिल गया | जब उपभोक्ता ने उस नंबर पर फ़ोन किया तो फीमेल प्रतिनिधि ने फ़ोन उठाया और जब उपभोक्ता ने अपनी शिकायत उनको बताई तब तो उन्होंने order number पूछा और साथ कुछ और जानकारी ली की payment कैसे किया था आपने और card number किया था और उन्होंने यह कहते हुए फ़ोन रख दिया की आपके पास एक मैसेज आयेगा आपको वो मैसेज उनके नंबर पर फॉरवर्ड करना है | जब वह मैसेज उपभोक्ता ने उस नंबर पर फॉरवर्ड किया उसी के थोड़ी देर बाद उनके अकाउंट ने 9,300 रुपये कट गए | 

इस तरह के फ्रॉड के कैसे काफी देखने को मिले है जिसमे उपभोक्ता से कई प्रकार की जानकारी लेकर उनके अकाउंट से पैसे निकल लिए जा रहे है | यह जानकारी वह आपसे अलग अलग तरीके से और कई बार कॉल करके आपसे निकल लेते है और आपको पता भी नहीं चलता |

कभी आपका नाम पूछते है, कभी ऐसी कॉल आती है जिसमे आपको कोई प्राइज मिल रहा होता है और अकाउंट डिटेल पूछते है और बाद में ऐसी कॉल आती जिसमे आप एक छोटी सी इनफार्मेशन देते ही आपके अकाउंट से पैसे निकल जाते है |

इसलिए आप किसी भी परिस्थिति में अपनी खाते से सम्बंधित जानकारी किसी को ना दे | 

RBI ने यहाँ तक कह दिया है अगर आपने किसी आपने या फिर किसी बहुत ही खास व्यक्ति को अपना ATM card दिया और किसी भी प्रकार का transaction में दिक्कत होती है तो आप ही जिम्मेदार होंगे, क्योकि ATM card का पिन निजी इस्तेमाल के लिए किसी अन्य के साथ शेयर करना मना है |

  
लेकिन उपभोक्तओ के लिए एक नई खबर है जिसमे साइबर फ्रॉड की तीन दिन में शिकायत तो बैंक को करना होंगे पूरा भुगतान (Amar Ujala News)

अगर आपकी उपभोक्ता संबंधी कोई भी शिकायत है तो अपनी शिकायत Voxya, consumer complaint forum online पर करना ना भूले |


Looking for an optimal solution of consumer complaints then 


Wednesday, 27 March 2019

Myntra Consumer Complaint Resolved - Chandigarh Consumer Forum Case: गलत प्रोडक्ट देने पर ई-कॉमर्स फर्म 5000 रुपये देने को कहा गया |


चंडीगढ़ (Chandigarh) : जिला उपभोक्ता विवाद निवारण फोरम (District Consumer Dispute Redressal Forum) ने Myntra Designs को आदेश दिया था कि वह किसी गलत उत्पाद को देने और फिर वापस नहीं करने पर 5,000 रुपये का भुगतान करे | फोरम (Forum) ने यह भी आदेश दिया कि उत्पाद की लागत 2725 रुपये भी उपभोक्ता को वापस करे |   

सेक्टर 22 के निवासी असीम बंसल ने अपनी शिकायत (complaint) में कहा है कि 13 जून, 2016 को उन्होंने Roush Club Men Black Oxford  Shoes को आर्डर किया था जिसकी कीमत 2725 रुपये थी | यह उत्पाद Myntra द्वारा 17 जून, 2016 में दिया गया था | हालांकि, ई-कॉमर्स वेबसाइट पर दिए गए जूते का विवरण भेजे गए जूते से मेल नहीं हो रहा था | उपभोक्ता ने customer helpline number पर कॉल किया और इसके विषय में शिकायत (complaint) भी दर्ज कराई | कई बार ईमेल करने के बाद, Myntra का प्रतिनिधि जून 24, 2016 को प्रोडक्ट को वापस ले गए, लेकिन पैसे को वापस नहीं किया |  अंततः, उपभोक्ता ने  वह 4 जनवरी, 2018 को उपभोक्ता ने एक लीगल नोटिस (legal notice)  भेजी लेकिन उसका भी कोई परिणाम और जवाब नहीं मिला था |   सेवाओं में कमी और अनुचित व्यपार अभ्यास का आरोप लगते हुए उन्होने अपनी उपभोक्ता शिकायत कंस्यूमर फोरम (consumer complaint consumer forum) में दर्ज की | 


अपने उत्तर में Myntra अधिकारियों ने कहा कि उत्पाद तीसरे पक्ष का बचाव करते हुए कहा कि शिकायतकर्ता (complainant) को उत्पाद तीसरे पक्ष के विक्रेता ने बेचा था और उसे तीसरे पक्ष के लॉजिस्टिक सेवा प्रदाता के माध्यम से उपभोक्ता तक पहुंचाया गया था | इस प्रकार, उनकी कोई भूमिका/भागीदारी नहीं है क्योंकि यह एक मध्यस्थ है जो संबंधित विक्रेताओं और खरीदारों को एक प्लेटफॉर्म देता और बिक्री और सामानों की खरीद के पूरे लेनदेन को सुविधाजनक बनाने वाला ऑनलाइन प्लेटफार्म है | यह निवेदन करते हुए कि उनकी ओर से सेवा या अनुचित व्यापार व्यवहार में कोई कमी नहीं है, उन्होंने शिकायत (complaint) को खारिज करने की प्रार्थना की | 


फोरम (Forum) ने दोनों दोनों पक्षों की सुनवाई और ईमेल का अवलोकन स्पष्ट से करने कर बाद पाए की Myntra प्रोडक्ट वापस करने और पैसे वापस करने के लिए सबसे ज्यादा जाना जाता है यह प्रश्न करने हुए पूछा गया कि फिर उपभोक्ता को क्यों मना किया गया | तो इसके उत्तर में Myntra ने अपनी दलील दी किप्रश्न में वह उत्पाद तीन दिनों के लिए शिकायतकर्ता (complainant) द्वारा इस्तेमाल किया गया था और इसलिए रिफंड से मना कर दिया था | तथापि, रिकार्ड में यह दर्शाने में के लिए कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिले कि उपभोक्ता ने उस जूतों का इस्तेमाल किया था और ना ही जूते की हालत ऐसी थी की उसे बदला ना जा सके |  इसलिए, एक गलत उत्पाद भेजने के लिए अधिनियम और बाद में गैर वापसी सेवा और अनुचित व्यापार व्यवहार में कमी को दर्शाता है, जिससे निश्चित रूप से शिकायतकर्ता को भारी शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना हुई | 

जिसके बाद फोरम (Forum) ने निर्देश दिए |  

Content source: TOI

If you are looking for a quick solution of complaints then 

Tuesday, 26 March 2019

Winner of Voxya Online Consumer Complaint Forum Holi Wali Selfie Contest

Consumer Forum
Holi Wali Selfie प्रतियोगिता जो कि पहेली बार Voxya online consumer complaint forum ने किया था | इसमें प्रतियोगियों ने बढ़ चढ़ के इसमें हिस्सा लिया और कुछ ने तो एक दूसरे को काफी बराबर की टक्क्र दी | जिसमे लोगो को लगा की प्रतियोगी नंबर 15 जीत जायेगा लेकिन जब टीम ने देखा तो पता चला की उनकी पिक्चर के लाइक्स किसी bot tool जैसे की Like4Like या फिर किसी अन्य लाइक को बढ़ाने वाले bot का इस्तेमाल किया था | जिसकी वजह से वह इस प्रतियोगिता को जीत नहीं पाए नहीं तो Contestant #15 ही जीतने वाले थे |

दूसरे नंबर पर Contestant #10 थे जिसके likes दूसरे नंबर पर अधिक थे और जब हमने उनके likes को देखा तो सभी की Facebook Profile Indian है |  इस वजह से वह इस प्रतियोगिता में जीत हासिल कर ली |

Contestant #10 प्रतियोगी का नाम अभिषेक तिवारी है और जल्द ही उनके पास जीत का पुरस्कार उनके पास तक पंहुचा दिया जायेगा | 




File consumer complaints online at Voxya 

consumer complaints forum for quick solution.






Monday, 25 March 2019

जानिए कौन जीत रहा है होली वाली सेल्फी प्रतियोगिता (Know Who Is Winning Voxya Holi Selfie Wali Contest in Hindi)

अब तक आप सभी को पता चल गया होगा कि Voxya Holi Wali Selfie प्रतियोगिता को इस होली के अवसर पर किया है | 

अगर अभी भी आप नहीं जानते है तो जानने के लिए क्लिक करे : 

Chance To Win Rs.1500 and Photo Frame From Voxya Consumer Complaint Forum



इस प्रतियोगिता कई लोगो ने अपनी होली की फोटो को Voxya Facebook Page पर भेजी | जिनमे से कुछ फोटो को टीम ने चुना और उन्हें अपने  Facebook Timeline पर पोस्ट करना शुरू किया | इस प्रतियोगिता जिस प्रतियोगी की फोटो पर ज्यादा लिखे होंगे वो प्रतियोगी जीत जायेगा |

हम आपको 4 प्रतियोगी की बारे में बताने जा रहे है जो इस प्रतियोगिता जीत के पास पहुंचने वाले है क्योकि Voxya की टीम जल्द ही परिणाम की घोषणा करने वाली है |

आइये जानते है वो कौन है प्रतियोगी जो जीत सकते है : 

1. #HoliWaliSelfie Contestant #15

इस प्रतियोगी के अब तक 112 Likes हो चुके है और यह अभी तक सबसे आगे चल रहे है | लेकिन कुछ लोगो का कहना है कि इस प्रतियोगी के Likes fake है | जिसकी वजह से इसके जीतने कि सम्भावना में एक प्रश्न चिन्ह बना हुआ है | 


2. #HoliWaliSelfie Contestant #10

इस प्रतियोगी के अब तक 80 Likes हो चुके है को कई लोगो ने कमेंट करके सपोर्ट भी किया है  कुछ लोगो ने शेयर भी किया | इस जीतने की सम्भावना दूसरे नंबर पर आप Voxya Facebook पेज पर जाकर फोटो पर like करके सपोर्ट कर सकते है | 




3. #HoliWaliSelfie Contestant #6

इस प्रतियोगी को भी काफी लोगो ने प्रसंद किया है और अभी तक इनके 38 Likes हो चुके है और कुछ लोगो ने कमेंट भी किया है और यह भी प्रतियोगिता जीने की सम्भावना में तीसरे नंबर पर आते है | 



4. #HoliWaliSelfie Contestant #9

यह प्रतियोगी अब तक 34 Likes के साथ जीतने की सम्भावना में चौथे नंबर पर बनी हुई है | आप इन्हे भी सपोर्ट करके इस प्रतियोगिता को जीता सकते है |